बीमा कितने प्रकार के होते हैं? | Bima Kitne Parkar Ke Hote Hai?

बीमा कितने प्रकार के होते हैं? अक्सर लोगो में यह सवाल होता है लेकिन यह थोड़ी सी ऑनलाइन तलाश से मालूम हो जाता है कि बिमा के कितने प्रकार है। वैसे बिमा आपको कराना चाहिए जो भविष्य में आर्थिक परेशानी से मुक्ति देता हैं। यह दोनों को रहत देता है यदि आप बिमा धारक हैं या किसी वजह से आपकी मृत्यु हो जाती है तो आपके परिवार को वित्तीय परेशानी से बचाता है।

हम ऐसी कोई कामना नहीं करते कि आप में से किसी कि आकस्मिक मौत हो जाए, हालाँकि आपके परिवार को आर्थिक मदद मिलती है बिमा से लेकिन आपको खोने का दर्द बड़ा होगा।

चलिए (बीमा कितने प्रकार के होते हैं?) अपने विषय पर वापस आते हैं कि बीमा कितने प्रकार के होते हैं? आप आपने जीवन में इस्तेमाल हो रही किसी भी वस्तु या प्रियजन का बिमा करा सकते हैं।

बीमा कितने प्रकार के होते हैं?

आमतौर पर जीवन के तकरीबन सभी जरूरतों के लिए बीमा होता है। मैंने आपके समझ के लिए इसके 6 प्रकारों का विस्तार से लेख लिखा है। ध्यान पूर्वक पढ़िए (बीमा कितने प्रकार के होते हैं?)।

जीवन बीमा (Life Insurance)

जीवन बीमा सबसे अधिक प्रचलित है पूरी दुनिया में। जीवन बीमा लॉन्ग टर्म का होता है 10 से 25 साल किया जाता है निश्चित अवधि पूरी होने पर राशि का भुगतान कर दिया जाता है या इस बिच यदि बीमित व्यक्ति की मृत्यु हो जाती है तो बीमा कंपनी बिमा की राशि आपके परिवार को अदा कर देती है। जीवन बिमा इसलिए किया जाता है कि कोई भी व्यक्ति जीवन में आर्थिक सुरक्षा चाहता है।

एक अच्छा जीवन बीमा लेने से पहले आपको कुछ बातों पर ध्यान देना चाहिए।

बीमा कितने प्रकार के होते हैं?
  • वित्तीय सुरक्षा – जब आप जीवन बीमा लेते हैं तो सबसे पहले आपको पता होना चाहिए की इस बीमा से आपको या आपके परिवार की वित्तीय जरूरतों को पूरा करता है कि नहीं। आप कमाते हैं लेकिन जीवन एक जैसा नहीं होता है आपका चुना गया जीवन बिमा आपके बुढ़ापे का सहारा हो सकता है, आपके बच्चो की उच्च शिक्षा में योगदान कर सकता है और आपको कर में भी काफी रहत मिलती हैं। आपको सलाह है कि जीवन बिमा जितना जल्दी हो सकतें करा लें वरना उम्र के साथ साथ बीम की किश्त की राशि भी बढ़ेगी।
  • सही बीमा योजना का चयन करें – अक्सर यहाँ लोग गलती करतें हैं कि बीमा एजेंट के सुझाव अनुसार बीमा चुनते हैं। आपको आपने आने वाली जरुरत का आंकलन करना होगा कि आपको उस समय कितने धन की आवश्कता है उसी अनुसार अपना जीवन बिमा चुने। आज मार्किट में बहुत से ऑनलाइन प्लेटफ्रॉम हैं जो आपको सही जानकारी दें सकतें हैं।
  • नॉमिनी – जीवन अनिश्चिता का नाम है इसलिए बीमा लेते समय आपको एक नॉमिनी का दर्ज करना होता है जो आपके मृत्यु की स्थिति में जीवन बीमा का लाभ प्राप्त कर सके। आपको कोई भी नॉमिनी चुन सकतें हैं और जरुरत पड़ने पर उन्हें बदल भी सकतें हैं।
  • अपने हितों की सुरक्षा की जानकारी – बीमा नियामक विकास प्राधिकरण (IRDA) एक वैधानिक निकाय है जो पॉलिसी धारकों के हितों की सुरक्षा तथा बीमा उद्योग के नियमन एवं उसकी वृद्धि को प्रोत्साहित करने हेतु की गई। आईआरडीए कहता है यदि बीमित व्यक्ति ने निपटारे हेतु दवा किया है तो 30 दिनों के भीतर निपटना होगा। यदि इसमें बीमा कंपनी को कोई शंका होती है तो 6 महीने में निपटारा करना होगा। IRDA की ऑफिसियल वेबसाइट पर जाएँ और पूरी जानकरी लें

इसे भी पढ़ें – भारत में सबसे सस्ता टर्म प्लान

स्वास्थ्य बीमा (Medical Insurance)

स्वास्थ्य बीमा सारी दुनिया अच्छी तरह से काम कर रहा है लेकिन भारत की बात करें तो अभी भी लोग इसे फालतू खर्च समझतें हैं। आपने अपने आस पास देखतें होंगे कि आज जो हॉस्पिटल में भर्ती होता है उसका कम से कम 50,000 की चपत लग जाती है।

जिस गति से हमारे देश में स्वास्थ्य समस्याएं आ रही हैं, उसके लिए आपके पास एक पारिवारिक स्वास्थ्य बीमा होना आवश्यक है जो लगभग 650 रुपये से शुरू होता है। स्वास्थ्य बीमा स्वास्थ्य उपचार की लागत को कवर करता है यदि बीमा की अवधि के दौरान उपचार किया जाता है। आपको जानकर हैरानी होगी कि स्वास्थ्य बीमा पॉलिसियों पर टैक्स छूट मिलती है।

मुझे स्वास्थ्य बीमा की सबसे अच्छी बात यह लगती है कि आपको बिना किसी नकद भुगतान के अस्पताल से उपचार प्राप्त कर सकतें है। बिमा धारक की तरफ से अस्पताल को सीधा भुगतान कर दिया जाता है।

स्वास्थ्य बीमा के साथ एक बड़ी समस्या यह है कि यह हर अस्पताल में काम नहीं करता है क्योंकि यह वही काम करेगा जिस अस्पताल और बीमा कंपनी का समझौता होगा। इसके बाद भी यह बेहतरीन है जो आपके आकस्मिक हॉस्पिटल के खर्चो से बचाता है।

गाड़ी बीमा (Automobile Insurance)

मोटर अधिनियम के तहत सभी प्रकार की मोटर वाहन का बीमा कराना होता है अन्यथा चालान होता है। मोटर वाहन का बीमा आपको, सड़क पर चल रहे दूसरे व्यक्ति और आपकी गाड़ी को वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है।

मोटर वाहन का बीमा होने की स्थिति में आपको गाड़ी की क्षति के लिए जैसे प्राकृतिक आपदा नुकसान या गैर-प्राकृतिक आपदा जैसे चोरी एक्सीडेंट से होने वाली नुक्सान से वित्तीय सहायता प्रदान करता है।

ऑटो बीमा में सबसे अच्छा तीसरे पक्ष बीमा है जो दुर्घटना से होने वाले नुकसान की स्थिति में सबसे सुरक्षित होता है जिससे आपके ऊपर किसी भी प्रकार की वित्तीय भार नहीं पड़ता है।

अक्सर छुट्टी के समय और ड्यूटी जातें हुए ही सबसे अधिक रोड एक्सीडेंट होते हैं थर्ड पार्टी इन्शुरन्स होने से यदि आपके द्वारा किसी व्यक्ति को शारीरिक नुक्सान पहुँचता या मृत्यु हो जाती है तो ऐसी स्थिति में आर्थिक परेशानी से बचाता है।

इसे भी पढ़ें – Bike Ka Insurance Kaise Check Kare Online

यात्रा बीमा (Travel Insurance)

यात्रा बिमा उनके लिए सबसे शानदार है जो अक्सर यात्रा करतें रहते हैं लेकिन मेरी राय में सभी को यात्रा बीमा कराना चाहिए जब भी यात्रा करें। पहले केवल यह विदेशी यात्रा पर लागु होता था लेकिन अभी यात्रा बीमा घरेलू यात्रा पर भी दिया जाता है जो यात्रा के दौरान होने वाली आकस्मिक वित्तीय क्षति के विरुद्ध सुरक्षा प्रदान करती है।

यात्रा बीमा आपकी यात्रा के दौरान आपात चिकित्सा की स्थिति में, सामान के नुकसान होने पर या दुर्घटना के मामले में वित्तीय सुरक्षा प्रदान करता है।

कई प्रकार के यात्रा बीमा भी हैं जैसे विदेश यात्रा बीमा, छात्र यात्रा बीमा, घरेलू यात्रा बीमा और भी बहुत कुछ।

यदि आप हवाई यात्रा कर रहे हैं, तो आप कई यात्राओं के लिए बीमा प्राप्त कर सकते हैं। जिसकी सुविधा के बारे में मैंने बताया है। लेकिन हम जिस देश में रहते हैं वहां ज्यादातर यात्रा रेल से होती है और अब रेलयात्री बीमा उपलब्ध है।

जब आप रेल यात्रा बीमा लेते हैं, तो रेल दुर्घटना को रेल अधिनियम, 1989 की धारा 124 और 124ए के साथ धारा 123 के तहत परिभाषित किया गया है। पात्रता के अधीन कि कवरेज ट्रेन के वास्तविक प्रस्थान से वास्तविक आगमन तक मान्य होगा। जब तक आप ट्रेन से उतर नहीं जाते।

रेल यात्रा में दुर्घटना में मृत्यु या स्थायी अपंगता की दशा में 10 लाख, स्थायी अपंगता की दशा में 7.50 लाख, चोट के कारण अस्पताल में भर्ती होने पर 2 लाख और शवों का परिवहन के 10 हजार की राशि मिलती है।

गृह बीमा (Home Insurance)

गृह बीमा भी एक सुरक्षित निवेश है जो आपके घर को किसी भी प्राकृतिक या मानव निर्मित आपदा के कारण होने वाले वित्तीय नुकसान से बचाता है। होम इंश्योरेंस आपकी छत के नीचे सब कुछ कवर करता है।

गृह बीमा पॉलिसी आपके घर में आग, भूकंप, बिजली, बाढ़, हड़ताल, दुर्भावनापूर्ण क्षति, दंगा, चोरी आदि जैसी सभी आपदाओं को कवर करती है।

आपको होम इन्शुरन्स लेने से पहले जांचना होगा कि आपको क्या क्या कवर होगा अक्सर आपका घर का स्ट्रक्चर ही कवर होता है लेकिन आपको घर के अंदर के सभी सामानों को कवर करने वाले बीमा पर विचार करना होगा।

व्यापार बीमा (Business Insurance)

व्यवसाय बीमा आम तौर पर काम के दौरान होने वाली घटनाओं के कारण होने वाले नुकसान से वित्तीय संकट से बचाता है। व्यवसायों के लिए कई प्रकार के बीमा हैं जिनमें संपत्ति की क्षति, कानूनी दायित्व और कर्मचारी-संबंधी जोखिमों के लिए कवरेज शामिल है।

अक्सर हमने देखा है कंपनी आपने संभावित जोखिमों के आधार पर अपनी बीमा जरूरतों का मूल्यांकन करती हैं, जो कंपनी के संचालन के प्रकार के आधार पर अलग अलग होती है।

FAQ – बीमा कितने प्रकार के होते हैं?

बीमा का लाभ क्या है?

बीमा चाहे किसी भी प्रकार का हो, यह निश्चित है कि आपको भविष्य आर्थिक परेशानी बचाने वाले हैं बशर्तें आपने बीमा लेते समय अपनी जरुरत का सही आंकलन किया हो।

सबसे अच्छा बीमा कौन सा है?

अक्सर लोगो के ये सवाल होते हैं लेकिन आपको हमेशा अपने भविष्य की जरुरत के हिसाब बीमा चुनना होगा साथ जिसे आप आसानी से चूका सकें।

बीमा धन क्या होता है?

बीमा एक कॉन्ट्रैक्ट है जो कंपनी और ग्राहक के बीच होता है। ग्राहक एक किश्त बीमा कंपनी को कुछ वर्षो के लिए देता है और समय सीमा पूरा होने पर कंपनी उस पालिसी की राशि उनके हवाले करता है। इन्शुरन्स कंपनी जिस धन का भुगतान करता है उसे आम भाषा में बीमा धन कहा जाता है।

FAQ – बीमा कितने प्रकार के होते हैं?

मुझे उम्मीद है हमके आपके सवाल (बीमा कितने प्रकार के होते हैं?) का जवाब सही से दिया यदि फिर भी कोई कमी रहती है तो आप बेझिझक कमेंट बॉक्स में सवाल दाग सकतें हैं।

Leave a Comment