Startup Business Loan in Hindi | स्टार्टअप बिजनेस लोन | स्टार्टअप इंडिया लोन

Startup Business Loan in Hindi – यदि आप अपना नया स्टार्टअप करना चाहते हैं जिसके लिए आपको पैसों की आवश्यकता है तो आपके बहुत से सवालों मे एक सवाल होगा कि मुझे स्टार्ट उप के लिए लोन कैसे मिलेगा.

2015 मे जब से startup India की शुरूवात हुई है तब से देश मे माध्यम व्यवसाय का ग्राफ ऊपर की ओर जा रहा रहा है. इस का खास मकसद देश मे startup को अर्थिक प्रोत्साहन देता है जिससे देश मे रोजगार का सृजन और देश की अर्थव्यवस्था को बढ़ावा देता है.

इस पोस्ट मे आपको ये जानने को मिलेगा की startup के लिए किन दस्तावेजों की आवश्यकता होगा? Startup business loan कितने प्रकार के होते हैं? Startup loan कहाँ से लें? Startup लोन के क्या लाभ है? क्या आप startup business लोन लेने के लिए योग्य हैं? ईन सभी सवालों का आपको जवाब यहां मिलने वाला है.

Startup Business Loan कितने प्रकार के हैं?

दोस्तों जब आप स्टार्टअप बिज़नेस लोन के बारे में सोचते हैं तो इसके लिए बहुत से विकल्प हैं जिनके विषय में आपको ज्यादा ज्ञात नहीं होगा। आइए जानतें हैं कि आप कितने प्रकार के स्टार्टअप बिज़नेस लोन होते हैं और और जिससे आपको आसानी होगी की कौन सा लोन आपको चुनना चाहिए जो आपके बिज़नेस की जरूरत को पूरा करता हो।

इसे भी पढ़ेHDFC Business Loan Kaise Milta Hai

मुद्रा लोन स्कीम – Startup Business Loan in Hindi

आपने मुद्रा ऋण योजना के बारे में तो सुना ही होगा, जो देश के युवा उद्यमियों के बीच काफी लोकप्रिय है। माइक्रो यूनिट्स डेवलपमेंट एंड रिफाइनेंस एजेंसी (MUDRA) ऋण योजना सरकार द्वारा लघु और मध्यम व्यवसाय के लिए शुरू की गई एक योजना है।

मुद्रा बिज़नेस लोन के तीन प्रकार है शिशु, किशोर और तरुण के नाम से बिज़नेस लोन है. शिशु श्रेणी के मुद्रा लोन आवेदक के लिए 50-हजार तक का कर्ज ले सकता है। किशोर मुद्रा लोन में आप 5-लाख तक का लोन और तरुण में आपको 10-लाख तक बिज़नेस लोन मिल सकता है।

CGTMSE योजना – Startup Business Loan in Hindi

क्रेडिट गारंटी फंड ट्रस्ट फॉर माइक्रो एंड स्मॉल एंटरप्राइजेज (CGTMSE) जो भारत सरकार द्व्रारा की गई पहल है जो बैंकों और नॉन-बैंकिंग फाइनैंशल कारपोरेशन (NBFC) जैसी वित्तीय संस्थाओं के जरिये छोटे और मध्यम आकार के बिज़नेस को फंड प्रदान करते है. ध्यान देने वाली बात ये है की ये सिर्फ पहली बार उधमी या नए स्टार्टअप के लिए ही है।

सरकारी रिपोर्ट के अनुसार CGTMSE योजना ने उधमियों बड़े पैमाने पर लाभ दिया है और इस की सबसे अच्छी बात ये है की आपको लोन लेने के लिए किसी भी प्रकार की कोई गारंटी या सिक्योरिटी देने की आवश्कता नहीं है।

बिज़नेस किस्त लोन

बिज़नस किस्त लोन के बारे आपने सुना है कि नहीं लेकिंग कुछ प्रमुख बैंक इस तरह के लोन देते है। आईसीआईसीआई बैंक और स्टैंडर्ड चार्टर्ड जैसी बैंक ऐसा लोन देता है जो आपके बिज़नेस को विस्तार करने के लिए तत्काल नकदी की आवश्कता को पूरा करते हैं।

बिज़नस किस्त लोन वास्तव में पर्सनल लोन की श्रेणी में ही आता है क्यूंकि ये लोन सुरक्षित नहीं है लेकिन बैंक ने कम ब्याज दरों पर इस लोन को सुरक्षित बनता है।

इक्विपमेंट फाइनेंस – Startup Business Loan in Hindi

इक्विपमेंट फाइनेंस यानि के आपको किसी भी तरह की मशीनरी या उपकरण की खरीद के लिए लोन प्रदान करता है। उपकरण या मशीनरी को लोन देने वाला बैंक बतौर गारंटी या सिक्योरिटी के रूप में रखता है। लोन गारंटी बेस है इसलिए लोन की ब्याज दर सामान्य तौर पे कम होती है।

SIDBI द्वारा इक्विटी सहायता योजना और विकास के लिए पूंजी

आपको बहुत से बैंकों से अपने स्टार्टअप के लिए विशिष्ट प्रकार का लोन का लाभ उठा सकतें हैं। देश के कई बड़े बैंक और वित्तीय संस्थान लोन योजनाएं प्रदान करतें हैं, जो खासकर नए स्टार्टअप और उनके खास जरूरतों को पूरा करने के लिए बनाई जाती है। इस तरह संहुलियत बैंक स्टार्टअप बिज़नेस लोन अपने अलग अलग नाम से लोन देने का काम करते है।

अन्य विकप्ल क्या है स्टार्टअप बिज़नेस लोन के लिए?

हमेशा ऐसा नहीं होता जैसा की दीखता है कभी कभी बैंकों और NBFC से स्टार्टअप बिज़नेस लोन लेना मुश्किल हो जाता है। लेकिन आपको कुछ अन्य विकल्प का भी ध्यान रखना चाहिए यदि इस तरह की स्थिति उतपन्न हो जाये। इस लेख ( Startup Business Loan in Hindi ) में जाने और क्या विकल्प हैं जिससे आप अपने स्टार्टअप के लिए फण्ड इकट्ठा कर सकें। निचे कुछ विकल्प हैं जिन्हे आप जरूर पढ़ें।

पर्सनल लोन – Startup Business Loan in Hindi

यदि आपका स्टार्टअप बिज़नेस लोन किसी कारणवश फेल हो जाता है या निवेशकों से भी लोन मिलना आसान हो तो आपको पर्सनल लोन आपके लिए एक विकल्प है। यदि आपका क्रेडिट स्कोर अच्छा नहीं है आपको लोन अधिक ब्याज दर पर मिलेगा। कम ब्याज पर पर्सनल लोन लेने के लिए आपका क्रेडिट स्कोर न्यूनतम 750 होना जरूरी है।

क्राउड फंडिंग – Startup Business Loan in Hindi

क्राउडफंडिंग क्या है? यह ऑनलाइन माध्यम से लोगों से पासी इकट्ठा करने का आसान तरीका है जो काफी प्रचलित होता जा रहा है। यह इंडीगो-गो और किकस्टार्टर जैसी वेबसाइटों से लोन वाले ग्राहकों को ऑनलाइन अभियानों के माध्यम से पैसा इकट्ठा करने में सहायता करता है। आप जिसके बदले में उपहार दिए जा सकते हैं जिसकी वजह से इसे रिवर्स क्राउडफंडिंग भी कहा जाता है।

इक्विटी क्राउडफंडिंग ने कई नए रास्ते भी खोले हैं, जिसमें उधारकर्ता फर्म आपके कुछ शेयर निवेशकों को फंड के बदले में देती है और आपको यह जानकर आश्चर्य होगा कि समाधान ने व्यापक रूप ले लिया है जो छोटे और मध्यम व्यवसायियों को “मॉम- एंड-पॉप” निवेशकों तक पहुंच की अनुमति देता है।

यदि आपके पास कोई उत्पाद या उत्पाद का विचार है और जिसको इम्पेलमेंट के लिए आपको फण्ड की जरूरत है तो क्राउडफंडिंग आपके लिए बहुत मददगार होने वाला है। ऐसे बहुत से उदहारण जिसमे से एक Urban Clap है।

अनुदान – Startup Business Loan in Hindi

अपने स्टार्टअप के लिए आप सरकारी एजेंसियों या प्राइवेट कंपनियों से अनुदान लेना एक और तरीका है फण्ड इकट्ठा करने का लेकिन इस तरह के फंडिंग लेना बहुत मुश्किल है यदि आपका प्रोजेक्ट अलग है जिसका फीचर हो तो कुछ आसानी हो सकती है।

नए स्टार्टअप बिज़नेस का आपको प्रोजेक्ट तैयार रखना होगा फिर जो आपके आपके प्रोजेक्ट में इंट्रेस्ट रखते है उनके सामने रखना होता है। यदि आपके स्टार्टअप प्रोजेक्ट में दम है तो और प्राइवेट कंपनियों और सरकारी एजेंसियां बिज़नस प्लान को पंसद करती है तो वे जरूर फंड को मंजूरी देंगे।

NPOs और गैर-सरकारी संगठन से माइक्रो लोन लेना

जब आपके पास एक विश्वसनीय फंड स्रोत नहीं है तो गैर-लाभकारी ऋणदाताओं या सूक्ष्म ऋणदाताओं से स्टार्टअप ऋण प्राप्त करना एक कठिन काम है। ये लोनदाता खासतौर पे उन व्यवसाय को लोन देते हैं जिनको लोन लेने के लिए संघर्ष करना पड़ रहा हो।

आमतौर पर ऋणदाता आपके व्यवसाय को चयन करता है यदि आप पात्र हैं तो आपको लोन मिल जाता है जिसमे आपको 3 से 4 हफ्ते का समय लग सकता है। यहाँ आपको कम ब्याज दर लोन मिलने की पूरी सम्भवना बानी रहती है।

ध्यान देने योग्य बातें – Startup Business Loan in Hindi

आपको अपने नए स्टार्टअप बिज़नेस लोन के लिए बैंक या निवेशकों से समपर्क करने से पहले आपको अपना परपोसल तैयार करना होगा, जिसमे बिज़नस मॉडल, रेवन्यू मॉडल, प्रमोटर्स बैकग्राउंड, अनुमानित ग्रोथ रेट, अनुमानित बिक्री, अनुमानित लाभ की पूरी जानकरी देनी होती है। व्यवसाय की पूरी चीजे संछिप्त में शामिल करनी होगी। स्टार्टअप बिज़नेस उपयुक्त तरीके से वित्तीय संस्थानों से संपर्क करते हैं तो जिसे अपनी सभी आवश्यकताओं को पूरा करता हो।

इस आर्टिकल को आप जरूर पढ़ें –  Lendingkart Business Loan In Hindi

स्टार्टअप बिज़नेस लोन पात्रता | Startup Business Loan Eligibility

जब भी आप स्टार्टअप बुसिनेस लोन के लिए बैंक या निजी संस्थानों के पास जाते हैं तो कुछ जरूरी बातों को ध्यान रखना होगा जिससे आपके स्टार्टअप लोन के पास होने की सम्भवना बढ़ जाएँ। आईये जानते ( Startup Business Loan in Hindi ) है वो क्या बातें हैं जिनका आपको ध्यान रखना होगा।

  1. आपके पास स्टार्टअप बिज़नेस का पोर्पोसल प्लान होना चाहिए।
  2. स्टार्टअप एक लिमिटेड लायबिलिटी पार्टनरशिप फॉर्म या प्राइवेट लिमिटेड कंपनी के रूप में होना चाहिए।
  3. फार्म का कुल करोबार 25 करोड़ से अधिक का होना जरूरी है।
  4. स्टार्टअप भारतीय पेटेंट और ट्रेडमार्क कार्यालय से संरक्षक गारंटी मिलनी चाहिए।
  5. स्टार्टअप के पास औद्योगिक नीति और प्रमोशन विभाग (DIPP) से मंज़ूरी होनी चाहिए।

स्टार्टअप बिजनेस लोन के लाभ क्या हैं?

यदि आप स्टार्टअप बिज़नेस लोन लेने जा रहे हैं तो वित्तीय संस्थानों के बजाय बैंक से लोन लेने की कोशिश करें जो आपको ज्यादा फायदा देना देने वाले हैं आईये इस लेख ( Startup Business Loan in Hindi ) में जानतें है की बैंक से स्टार्टअप लोन लेना कितना फायदेमंद है।

  1. आपके नए बिज़नेस को 3 साल के टैक्स से राहत मिलती है जो शुरू में आपको टैक्स के एक्स्ट्रा खर्चों से मुक़्त करता है।
  2. भारत में तकरीबन सभी बैंक बिज़नेस लोन प्रदान करते हैं जिसके पास जाना आसान है वही निवेशकों मिलना और फण्ड की प्रक्रिया काफी जटिल है।
  3. निवेशक फण्ड के बदले आपसे 5 से 10 गुना रिटर्न मांगते है जो काफी महंगा है लेकिन बैंक केवल ब्याज दर पर ही काम करते हैं।
  4. सबसे महत्वपूर्ण बात ये है व्यवसाय का लाभ और हानि केवल आपके लिए है, व्यवसाय में लाभ और हानि के लिए आप बैंक को पार्टी किसी तरह के जवाब देह नहीं हैं वही निवेशकों से लिए लोन पर आपको इनके प्रति जवाब देह होना होता है।

स्टार्टअप व्यवसाय के बारे में बैंकों को क्या जानकारी होनी चाहिए?

आपको अपने आर्थिक सलाहकार या बैंकों के साथ सलाह लेना है तो आपको उनको व्यवसाय की उचित जानकारी प्रदान करनी होगी ताकि वो आपको अच्छी सलाह दे सकें। जिससे आपके व्यवसाय में पूंजी की कमी को पूरा किया जा सके।

आपके बैंक को स्टार्टअप बिज़नेस लोन लेते समय व्यवसाय की जानकारी देनी चाहिए, जैसे की व्यवसाय की संपत्ति मालिक के द्वारा गिरवी तो नहीं राखी गई है, व्यवसाय की कितनी देनदारी है जैसे कुछ महत्वपूर्ण जानकरी आपको बैंक को देनी होगी। यदि आपने ऐसा नहीं किया तो भविष्य में आपको काफी कठिनाई का सामना करना पड़ सकता है।

बैंक में बिज़नेस लोन लेते समय कुछ दस्तावेजों को देना होता है जो निम्न प्रकार के हैं।

  • आवेदनकर्ता के परिचय प्रमाण पत्र
  • व्यवसाय का प्रोफाइल
  • आवेदक का प्रोफ़ाइल
  • कंपनी ऑनरशिप सर्टिफिकेट
  • रजिस्ट्रेशन के प्रमाण
  • बैंक स्टेटमेंट

FAQ

स्टार्टअप इंडिया से लोन कैसे ले?

यदि आप स्टार्टअप इंडिया से लोन लेना चाहते हैं तो आपको ज्ञात होगा ये सरकारी योजना है जिसकी पूरी जानकरी के लिए आपको इस टोल फ्री नंबर 1800 115 565 पे संपर्क करें। आप यहाँ स्टार्टअप इंडिया और मुद्रा लोन के तहत लोन का आवेदन कर सकते है। दोनों के बारे में पूरी जानकारी वेबसाइट पर मौजूद है।

एमएसएमई लोन कैसे ले?

एमएसएमई (MSME) लोन के आपको यूपी सरकार की ऑफिसियल साइट diupmsme.upsidc.gov.in पर ऑनलाइन लोन के अप्लाई कर सकतें हैं। एमएसएमई क्षेत्र के लिए यह ऑनलाइन ऋण स्थानीय (स्वदेशी) उत्पादों के उत्पादन पर ध्यान रख कर करेगा और उन्हें वैश्विक ब्रांडों के साथ बदलेगा।

बिजनेस करने के लिए लोन चाहिए कैसे मिलेगा?

बिज़नेस लोन लेने के कई सरे पात्रता होती ये इस बात पर निर्भर करता है की आपको किस कार्य के लिए चाहिए। आमतौर पे बिज़नेस लोन लेने के लिए आपको पिछले 6 बैंक स्टेटमेंट, व्यवसाय का टर्नओवर सर्टिफिकेट, पार्टनरशिप सर्टिफिकेट, व्यपार कितना पुराना है। इस आर्टिकल में पूरा विस्तार से ऊपर दिया गया है।

  • बीमा कितने प्रकार के होते हैं

    बीमा कितने प्रकार के होते हैं? | Bima Kitne Parkar Ke Hote Hai?

  • Guatam Adani 2021 के दुनिया के दूसरे अमीर व्यक्ति

    Guatam Adani 2021 के दुनिया के दूसरे अमीर व्यक्ति, Jeff Bezos, Elon Musk को भी पछाड़ा

  • Best Trading App India Hindi

    Best Trading App India Hindi | Share Market Trading App Hindi

  • Online Trading Kaise Kare

    Online Trading Kaise Kare | मोबाइल से शेयर ट्रेडिंग कैसे करें | Online Trading in Hindi

  • Bike Ka Insurance Kaise Check Kare

    4 आसान तरीके Bike Ka Insurance Kaise Check Kare Online

  • बिटकॉइन कैसे खरीदें

    बिटकॉइन कैसे खरीदें? | Bitcoin Kaise Kharide

Leave a Comment